You are here:  / रीवा / ग्रामीण व नगरीय क्षेत्र में पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित करायें – प्रभारी मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र

ग्रामीण व नगरीय क्षेत्र में पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित करायें – प्रभारी मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र

उपार्जन केन्द्रों में आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित कराते हुए कृषकों को समय पर भुगतान की कार्यवाही करें
ग्रामीण व नगरीय क्षेत्र में पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित करायें, जिला योजना समिति की बैठक में प्रभारी मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र के निर्देश

प्रदेश के जल संसाधन एवं जनसपंर्क मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला योजना समिति की बैठक सम्पन्न हुई। इस अवसर पर उद्योग मंत्री राजेन्द्र शुक्ल भी उपस्थित थे।
बैठक की अध्यक्षता करते हुए प्रभारी मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ने कहा कि जिले के सभी उपार्जन केन्द्रों में किसानों को परेशानी न हो इसलिए आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित की जाए साथ ही उपार्जित फसल का समय पर संबंधित को भुगतान भी कराया जाय। उन्होंने कहा कि ग्रीष्म ऋतु में ग्रामीण व नगरीय क्षेत्रों में पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित कराते हुए जल आपूर्ति नियमित तौर पर करायी जाय ताकि कहीं भी पीने के पानी की समस्या पैदा न हो।
प्रभारी मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का पात्र व्यक्तियों को लाभ मिले तथा सिलेण्डर की रिफिलिंग निकटतम स्थानों में हो। इसलिए आवश्यक है कि हाट बाजार में गैस एजेन्सियाँ सिलेण्डर लेकर जाए साथ ही इसका व्यापक प्रचार-प्रसार भी किया जाय जिससे हितग्राही निकटतम स्थान में जाकर गैस की रिफिलिंग करा सकें।
जनसंपर्क मंत्री ने जिला योजना समिति की बैठक में कहा कि जल संरक्षण व संवर्धन के कार्य कराये जाए साथ ही पुरानी जल संरचनाओं को पुनर्जीवित किये जाने के भी कार्य हों। उन्होंने रीवा जिले में मिशन इन्द्रधनुष के तहत बच्चों व गर्भवती माताओं के टीकाकरण कार्य में शत-प्रतिशत उपलब्धि पर प्रसन्नता व्यक्त की। प्रभारी मंत्री ने प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना सौभाग्य के तहत ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में विद्युतीकरण के लक्ष्य को नियत समय में पूर्ण किये जाने के निर्देश विद्युत वितरण कम्पनी को दिये।
बैठक में उद्योग मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने कहा कि सौभाग्य योजना के तहत शहरी क्षेत्रों के हितग्राहियों को लाभ दिलायें साथ ही अविद्युतीकरण घरों में विद्युतीकरण की कार्यवाही सुनिश्चत करायें। प्रभारी मंत्री सहित उद्योग मंत्री ने प्रधानमंत्री असंगठित श्रमिक पंजीयन में जिले में 6 लाख 77 हजार 102 पंजीयन होने पर बधाई दी। कलेक्टर ने बताया कि पंजीकृत हितग्राहियों का आगामी दो से तीन दिवस में पूर्ण सत्यापन करा लिया जायेगा।
जिला योजना समिति की बैठक में कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने बताया कि जिले के 72 उपार्जन केन्द्रों में 71905 पंजीकृत किसानों से गेहूँ की खरीदी की जा रही है। अभी तक 5200 किसानों से 21898.86 मे.टन खरीदी की जाकर 3766.45 लाख रूपये किसानों के खाते में भेजे जा चुके हैं। उल्लेखनीय है कि इस वर्ष जिले में 13 हजार नये किसानों ने अपना पंजीयन कराया है। उज्ज्वला योजना में 251334 हितग्राहियों के विरूद्ध 96654 को गैस कनेक्शन प्रदाय किये जा चुके हैं। जिले में सौभाग्य योजना के तहत 27820 घरों को विद्युतीकरण किया जा चुका है। शेष लक्ष्य की शत-प्रतिशत पूर्ति अक्टूबर माह तक कर ली जायेगी। मुख्यमंत्री ग्रामीण नल जल योजनान्तर्गत प्रत्येक जनपद में 4 के मान से 36 नल जल योजनाएँ स्वीकृत की गयी हैं। योजना समिति की बैठक में शा.उ.मा.वि. मनगवां का नामकरण शहीद मेजर आशीष दुबे, शा.उ.मा.वि. लालगावं का नामकरण रूक्मणी रमण प्रताप सिंह, शा.वि. नईगढ़ी का नाम गोपाल शरण तथा शा. वि. ढेरा का नामकरण रामसजीवन जायसवाल के नाम से किये जाने का अनुमोदन किया गया। बैठक में सांसद सहित विधायकों एवं सदस्यों ने अपने सुझाव व विचार व्यक्त किये।
इस दौरान सांसद जनार्दन मिश्र, महापौर ममता गुप्ता, विन्ध्य विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष सुभाष सिंह, उपाध्यक्ष जिला पंचायत विभा पटेल, उपाध्यक्ष विन्ध्य विकास प्राधिकरण विमलेश मिश्रा, विधायक देवतालाब गिरीश गौतम, विधायक सिरमौर दिव्यराज सिंह, विधायक मनगवां श्रीमती शीला त्यागी, भाजपा अध्यक्ष विद्याप्रकाश श्रीवास्तव, कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत मयंक अग्रवाल सहित सदस्य, विधायक प्रतिनिधि व अधिकारी उपस्थित थे।

YOU MIGHT ALSO LIKE

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked ( * ).