समाचार

अक्षय ऊर्जा क्षेत्र की स्थापित क्षमता पाँच गुना बढ़ेगी


240616n8

मुख्यमंत्री श्री चौहान की चीन के औद्योगिक शहर शेनझेन में 15 प्रमुख कंपनियों से चर्चा
मुख्यमंत्री 26 जून को आयेंगे भोपाल

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश अक्षय ऊर्जा उत्पादन क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रहा है। अगले तीन साल में इस क्षेत्र की स्थापित क्षमता पाँच गुना तक बढ़ जायेगी। अभी उत्पादन क्षमता 2567 मेगावाट है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने चीन के औद्योगिक शहर शेनझेन में आज विशेष रूप से आयोजित बिजनेस सेमीनार में प्रमुख कंपनियों और औद्योगिक निर्माण समूहों को संबोधित करते हुए बताया कि एशिया का सबसे बड़ा 135 मेगावाट क्षमता का सोलर प्लांट नीमच में संचालित है। विश्व का सबसे बड़ा 750 मेगावाट क्षमता का सोलर प्लांट भी प्रदेश के रीवा में लग रहा है।

श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में कृषि व्यवसाय, खाद्य प्र-संस्करण, फार्मास्युटिकल्स, आटोमोबाइल और टेक्सटाईल हेंडलूम क्षेत्र में निवेश की बहुत ज्यादा संभावनाएँ हैं। इसके अलावा इलेक्ट्रॉनिक निर्माण, टेलीकम्युनिकेशन, सूचना-प्रौद्योगिकी आधारित सेवाएँ और समाधान का क्षेत्र भी तेजी से उभर रहा है।

शेनझेन में स्थापित कंपनियों ने मध्यप्रदेश में निवेश को लेकर उत्साहजनक रुचि दिखाई। मध्यप्रदेश और शेनझेन प्रांत सरकार के प्रतिनिधियों ने व्यापार और व्यवसाय संबंधित कई मुद्दों पर चर्चा की। शेनझेन प्रांत की ओर से संचालक एशियाई मामले, श्री यांग-गुईकेन, संचालक वैश्विक समन्वय विभाग श्री लीन झिउहांग और निवेश प्रोत्साहन विभाग के उप संचालक और मध्यप्रदेश की ओर से उद्योग मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया भी उपस्थित थीं।

15 कंपनियों से मुलाकात

मुख्यमंत्री ने शेनझेन में लगभग 15 कंपनियों से मुलाकात की। उन्होंने बताया कि कैसे मध्यप्रदेश उनके लिये एक आदर्श निवेश स्थल हो सकता है। इन कंपनियों ने किंग सिग्नल, वेनफुदा, ग्रेनटेक, रेनक्वींग, पर्यावरण संरक्षण उपकरण बनाने वाली मेटेक, संचार उपकरण बनाने वाली ल्यानझाउ, इलेक्ट्रॉनिक कंपनी कोनका, इंटेलेकच्युअल कंट्रोल सॉल्युशन कंपनी टॉपवेन, निवेश कंपनी झुआनुइंग, सप्लाई चेन कंपनी एवररिच, डिजिटल टेली मीडिया कंपनी ज्युझाउ, ई-कॉमर्स कंपनी होफॉन, इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी, जिंगकुऑनहुआ, रियल स्टेट कंपनी होंगपा और संचार उपकरण निर्माता झेनउआ शामिल हैं। इन कंपनियों ने मध्यप्रदेश में निवेश को लेकर उत्साहजनक रुख दिखाया।

मुख्यमंत्री ने शेनझेन स्थित विश्वविख्यात कंपनी होवाई टेक्नालॉजी के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की। यह चीन की बहुराष्ट्रीय कंपनी है जो टेलीकम्युनिकेशन उपकरण बनाने और सेवा के क्षेत्र में काम करती है। विश्व की प्रसिद्ध कंपनी एरिक्शन इसी कंपनी में समाहित हो गई है।

श्री चौहान चीन से 25 जून की देर रात्रि नई दिल्ली लौटेंगे और 26 जून की सुबह भोपाल आयेंगे।

Have any Question or Comment?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

आलेख – अजय नारायण त्रिपाठी

Smiley face

अविस्मरणीय गौरवमयी पल व्हाइट टाइगर सफारी लोकार्पण

मारने वाले से बचाने वाला बडा होता है बचाने वाले से पालने वाला और जो लाए, बचाए, पाले उसकी बडाई का कहना ही क्या। सन 1976 में रीवा से सफेद बाघ का नाता टूट गया था अंतिम बाघ विराट के न रहने पर पूरा विन्ध्य केवल सफेद बाघ की कहानी गायक बन कर रह गया। राजेन्द्र शुक्ल की तब उम्र केवल 12 वर्ष की थी ऐसा बालमन जो कौतूहलो से भरा रहता है जो खेलना चाहता है, घूमना चाहता है, प्रकृति को आष्चर्य भरी निगाहों से निहारता है और फिर सवाल उठाता है बारिस क्यो होती है? इसका पानी कहां जाता है? बीज से पेड़ कैसे बनते है? जंगल क्यो है? जीव जन्तु क्यो जरूरी है? इन्द्रधनुष कैसे बनता है? पेड़ हरे क्यो हैं? इन सब सवालो के जबाव स्कूलो में मिलने की उम्र भी यह है। इस अवस्था में प्रकृति प्रेमी इस बच्चे ने यह जाना की हमारा क्षेत्र जो सफेद बाघ के गौरव से परिपूर्ण था अब वह विहीन हो चुका है। हम अब कभी सफेद बाघ इस क्षेत्र में नही देख पायेगें सफेद बाघ कैसा होता है अब यह केवल चित्रों के माध्यम से दूसरो को बता पायेंगे या फिर अन्य जगहांे पर जा कर देख पायेगें जहां पर यहीं के सफेद बाघ भेज दिए गए हैं। .. आगे पढ़ें


SuperWebTricks Loading...